यह ब्लॉग खोजें

फ़ॉलोअर

16 मार्च, 2010

"कम्प्यूटर" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक")

मन को करता है मतवाला।
कम्प्यूटर है बहुत निराला।।


यह तो एक अनिवार्य भाग है।
कम्प्यूटर का यह दिमाग है।।
चलते इससे हैं प्रोग्राम।
सी.पी.यू.है इसका नाम।।

गतिविधियाँ सब दिखलाता है।
यह मॉनीटर कहलाता है।।
सुन्दर रंग हैं न्यारे-न्यारे।
आँखों को लगते हैं प्यारे।।

इसमें कुंजी बहुत समाई ।
टाइप इनसे करना भाई।।
सोच-सोच कर बटन दबाना।
हिन्दी-इंग्लिश लिखते जाना।।

यह चूहा है सिर्फ नाम का।
माउस होता बहुत काम का।।
यह कमाण्ड का ऑडीटर है।
इसके वश में कम्प्यूटर है।।

कविता लेख लिखो जी भर के।
तुरन्त छाप लो इस प्रिण्टर से।।


नवयुग का कहलाता ट्यूटर।
बहुत काम का है कम्प्यूटर।।

5 टिप्‍पणियां:

  1. नवयुग का कहलाता ट्यूटर।
    बहुत काम का है कम्प्यूटर।।
    वाकई बहुत काम का है
    सुन्दर गीत

    जवाब देंहटाएं
  2. वाह अब कम्प्यूटर? पहले फ्रिज,टेलीफोन,गैस,टी.वी और भी घर की बहुत सी चीज़ों के बाद अब फ्रिज बच्चों को वस्तुओं के बारे मे जानकारी देने का अच्छा प्रयास। बधाई

    जवाब देंहटाएं
  3. बच्चों के लिए ज्ञानवर्धक रचना!


    आपको नव संवत्सर की मांगलिक शुभकामनाएँ.

    जवाब देंहटाएं

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथासम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।